विविध समाचार

Showing 1-10 of 301 items.
आंशिक लॉक डाउन का वायु प्रदूषण स्तरों पर नहीं हुआ ख़ास असर, प्रदूषण अब भी खतरनाक
  • Post by Admin on Jun 14 2021

पिछले साल की ही तरह, इस साल भी कुछ महीनों से, देश के कुछ हिस्से कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के कारण पूर्ण या आंशिक लॉकडाउन में रहे हैं। लेकिन इस बार इन पूर्ण या आंशिक लॉकडाउन का कोई ख़ास साकारात्मक असर नहीं दिखा। वजह रही शायद इनकी टाइमिंग। वायरस की विभीषिका के बाद लॉक डाउन लगाया तो गया, लेकिन आंशिक। तब तक काफ़ी असर हो चुका था। पिछले साल के लॉकडाउन को यादगार बनाया था बेहतर हुए वातावरण   read more

पिघलते ग्‍लेशियर और जलवायु परिवर्तन की मार, कर रही है तीसरे पोल पर वार
  • Post by Admin on Jun 14 2021

हिमालय और काराकोरम पर्वत श्रंखलाओं में जलवायु परिवर्तन के फुटप्रिंट बिल्‍कुल खुलकर ज़ाहिर हो गये हैं। इस क्षेत्र को तीसरा पोल भी कहा जाता है और यहां ग्‍लेशियर पिघल रहे हैं, नुकसानदेह परिघटनाएं हो रही हैं, बर्फबारी की तर्ज में बदलाव हो रहे हैं। ये उन देशों के लिये बुरी खबर है जो पानी की आपूर्ति के लिये इन पर्वत श्रंखलाओं से निकलने वाली नदियों पर निर्भर करते हैं। साइंस नामक जर्नल   read more

डम्बल इफेक्ट बढ़ाएगा मानसून में मुंबई की परेशानी
  • Post by Admin on Jun 11 2021

अभी हाल ही में मुंबई में अत्यंत भयंकर चक्रवात तौकते ने अपना कहर बरपाया, और अब, मुंबई में मानसून ने अपने आगमन के पहले ही दिन शहर को अस्त व्यस्त कर के रख दिया है। सांताक्रूज ऑब्जर्वेटरी ने बुधवार सुबह 8:30 बजे से 24 घंटे के अंतराल में 231 मिमी बारिश दर्ज की। हालांकि, मुंबई के लिए यह कुछ असामान्य नहीं है क्योंकि शहर में हर साल मानसून के मौसम में कई बार ट्रिपल डिजिट में बारिश होती है। लेकिन   read more

गरीब मुल्कों की जीवाश्म ईंधन पर निर्भरता हो कम
  • Post by Admin on Jun 11 2021

G7 देशों की बैठक से पहले, वैश्विक थिंक टैंक E3G के लिए YouGov संस्था ने G7 देशों में एक सर्वे किया जिसमें पाया गया कि वहां गरीब देशों की जीवाश्म ईंधन पर निर्भरता को कम करने में मदद करने के लिए भारी जन समर्थन है। कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, जापान, इटली, यूके और अमेरिका में हुए इस सर्वे में पाया गया कि सर्वे में हिस्सा लेने वालों में से 66% इसका समर्थन करते हैं। सभी सात देशों की जनता चाहती है कि उनकी स   read more

नेट जीरो एमिशन : वास्तविकता कम जुमलेबाज़ी ज्यादा
  • Post by Admin on Jun 10 2021

जैसे-जैसे जलवायु संकट के प्रभाव और अधिक स्पष्ट होते जा रहे हैं, दुनिया भर के लोग, महिलाओं और युवाओं के साथ, इन प्रभावों के ख़िलाफ़ कार्यवाई की मांग कर रहे हैं। लेकिन जवाब में, दुनिया के बड़े प्रदूषक और सरकारें अपने द्वारा उत्पन्न पर्यावरण संकट के समाधान के रूप में अपनी "नेट ज़ीरो एमिशन" योजना को दिखा रहे हैं, जो कि असल में सिर्फ जुमलेबाजी है और असल कार्यवाई  से बचने का तरीका   read more

धरती पर मौजूद है संसाधनों का भंडार, हर इंसान की ऊर्जा ज़रूरत हो सकती है पूरी
  • Post by Admin on Jun 10 2021

विश्व के प्रत्येक महाद्वीप में अपनी जनसंख्या को 100% रिन्यूएबल एनर्जी उपलब्ध कराने के लिए पर्याप्त नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता है। वैश्विक तापमान वृद्धि को 1.5ºC के लक्ष्य से नीचे रखने के लिए न सिर्फ जीवाश्म ईंधन उत्पादन के विस्तार का अंत ज़रूरी है बल्कि मौजूदा उत्पादन को भी चरणबद्ध तरीके से कम करना ज़रूरी है। ऐसा इसलिए क्योंकि भले ही जीवाश्म ईंधन के विस्तार को रातोंरात बंद कर दिया जा   read more

बड़हिया की डॉक्टर बेटी कोविड मरीजों की कर रही निःशुल्क सेवा
  • Post by Admin on Jun 09 2021

लखीसराय : कोरोना महामारी के इस भयावह दौर में जहाँ चिकित्सकों की बड़ी कमी है, वहीं इस आपदा के समय में बड़हिया की एक बेटी ने अनुकरणीय मिशाल पेश किया है। बड़हिया के इन्द टोला निवासी अनंत कुमार सिंह उर्फ थेथे बाबू की पुत्री डॉ. पूजा कुमारी एमबीबीएस और एमडी करने के बाद दिल्ली (गुड़गांव) के प्रतिष्ठित हॉस्पिटल मेदान्ता में चिकित्सक के तौर पर अपनी सेवा दे रहीं है। वहीं दूसरी ओर दि   read more

प्रकृति और जीवन का है अटूट संबंध : डॉ. संजय पंकज
  • Post by Admin on Jun 07 2021

मुजफ्फरपुर : 'प्रकृति की करुणा से ही संपूर्ण संसार और सारे प्राणी संरक्षित, संपोषित और विकसित होते हैं। सही अर्थ में प्रकृति ही विधाता की भूमिका में होती है। प्रकृति और जीवन का अटूट संबंध है जिस तरह से मां अपनी करुणा में समेटकर अपने शिशु को निहारती निहाल होती है उसी तरह प्रकृति भी अपनी संतानों को संरक्षित रखती है। महाकवि आचार्य जानकीवल्लभ शास्त्री की सृजनशीलता में   read more

आचार्य श्री के स्मारक पर आकर हम स्वयं को धन्य करते हैं : डॉ. संजय पंकज
  • Post by Admin on Jan 07 2021

मुजफ्फरपुर: गुरुवार को जिले के रामबाग स्थित निराला निकेतन में महवाणी स्मरण का आयोजन किया गया। इस दौरान वहां उपस्थित अतिथिगणों ने आचार्य श्री को स्मरण करते हुए उनके कृतियों का व्याख्यान किया तथा काव्यपाठ भी किया। इस दौरान कवि गीतकार और बेला के संपादक डॉ. संजय पंकज ने आचार्य श्री को स्मरण करते हुए कहा कि आचार्य जानकीवल्लभ शास्त्री के स्मारक पर आकर हम स्वयं को धन्य करत   read more

पुलिसकर्मी व सैनिक ही हैं देश के असली हीरो
  • Post by Admin on Jan 07 2021

आप मुंबई में गेटवे ऑफ इंडिया से मरीन ड्राइव होते हुए ब्रांद्रा और जुहू की तरफ जब बढ़ते हैं तब शुरू में ही, सड़क के बायीं तरफ एक धड़ प्रतिमा को देखते हैं। हालांकि पता नहीं चलता कि यह किस शख्स की है। हां, इतना समझ आ जाता है कि प्रतिमा में जिस इंसान को दिखाया गया है वह कोई पुलिसकर्मी ही रहा होगा। प्रतिमा में दिखाया गया शख्स पुलिस की वर्दी में है। आप जरूर जानना चाहेंगे कि वह कौन है? आपको आ   read more