या देवी सर्वभूतेषु के मंत्रोच्चार से प्रवाहित हो उठी भक्ति की मन्दाकिनी

  • Post By Admin on Oct 17 2020
या देवी सर्वभूतेषु के मंत्रोच्चार से प्रवाहित हो उठी भक्ति की मन्दाकिनी

सूर्यगढ़ा: शारदीय नवरात्र के पहले दिन शनिवार को मां भगवती के शैलपुत्री स्वरूप की पूजा की गई। मंदिरों, पूजा-पांडालों के अलावा श्रद्धालुओं के घरों में भी कलश-स्थापना कर वैदिक मंत्रोच्चार से मां की पूजा की गई। या देवी सर्वभूतेषु शक्तिरूपेण संस्थिता नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः के उच्चारण, शंख-घंटा-घड़ियाल की ध्वनियों से वातावरण निनादित हो उठा। धूप, अगर, हवन के धुएं से चहुंओर भक्ति की मन्दाकिनी प्रवाहित हो उठी। ज्योतिष शास्त्र के विद्वान पंडित आचार्य पवन मिश्रा ने कहा कि भगवती शैलपुत्री की आराधना से आपदाओं से मुक्ति मिलती है।