विश्व पर्यावरण दिवस को लेकर बैठक संपन्न

  • Post By Admin on May 13 2022
विश्व पर्यावरण दिवस को लेकर बैठक संपन्न

पटना: पर्यावरण संरक्षण गतिविधि, पटना विभाग का बैठक पटना सिटी में सह महानगर संयोजक मनीष कुमार जी के आवास पर हुआ। बैठक का संचालन पर्यावरणविद एवं पर्यावरण संरक्षण गतिविधि के प्रांत संयोजक राम बिलास शान्डिल्य ने किया।

शान्डिल्य ने बताया कि 5 जून विश्व पर्यावरण दिवस है। संपूर्ण विश्व में पर्यावरण सुरक्षा हेतु वृक्षारोपण अभियान चलाया जाता है। आजादी के 75 वर्ष पूरा होने पर भारत देश में अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। अतः पटना विभाग के प्रत्येक नगर एवं प्रखंड में कम से कम 5 जून से 15 अगस्त 2022 तक 75 पेड़ लगाने का निर्णय  लिया गया। इस हेतु निम्न विषय पर निर्णय  लिया गया-
● पर्यावरण संरक्षण हेतु प्रत्येक मानव अपने जीवन के लिए 5 जून को एक पौधा लगाकर पर्यावरण प्रहरी बनें। 
● मांगलिक कार्यक्रम या खुशियों के शुभ अवसर पर एक पौधा  गुलाब फूल या आम का अवश्य लगायें। इससे उस खुशी के पल को संजोया जा सकता है। विवाह, वर्षगांठ, उपनयन संस्कार के शुभ अवसर पर पौधारोपण का आग्रह कर पर्यावरण संरक्षण कार्य हो।

पर्यावरण संरक्षण गतिविधि के कार्य को बढ़ाने हेतु सह प्रांत कार्यवाह एवं पर्यावरण के प्रांत के पालक माननीय डॉक्टर विनायक पद्माकर जी ने पर्यावरण कार्यकर्ताओं के दायित्व की घोषणा की।

• पटना विभाग संयोजक एवं पर्यावरण प्रांत संपर्क प्रमुख : डॉ. ओम प्रकाश आर्य 
• बद्रीनाथ उप भाग संयोजक एवं पटना महानगर जल प्रकल्प प्रमुख : श्री सुधांशु कुमार 
• पटना महानगर के सह महानगर संयोजक एवं पेड़ प्रकल्प के सह प्रांत प्रमुख : श्री मनीष कुमार 
• बाढ़ जिला संयोजक : श्री सुरेंद्र कुमार सिन्हा 
• प्रांत टोली सदस्य : डॉ. रंजन कुमार

बैठक का समापन करते हुए पर्यावरण संरक्षण गतिविधि के प्रांत के पालक  डॉ. विनायक पद्माकर जी ने कहा कि भारत ही नहीं विश्व के मानव के लिए प्राकृतिक ऑक्सीजन अनिवार्य है। जो कि हरे-भरे पेड़-पौधों से ही प्राप्त होता है। जल ही जीवन है। अतः जल बचाने के साथ-साथ प्राकृतिक जल श्रोत तालाब, कुआं को भी  बचाएं। जल है तो कल है। पोलिथीन का उपयोग बंद करें। सब्जी खरीदने हेतु कपड़े के थैलों का उपयोग किया जाए।  पर्यावरण संरक्षण गतिविधि का उद्देश्य है- पेड़ लगाना एवं बचाना, पानी बचाना व पोलिथीन हटाना है।