किसान खगेश ने बदली अपनी किस्मत

  • Post By Admin on Jan 22 2022
किसान खगेश ने बदली अपनी किस्मत

भागलपुर: जिले के खरीक के युवा किसान खगेश मंडल ने अपने खेत में स्ट्रॉबेरी की खेती शुरू की। उन्होंने 5 कट्ठा जमीन में स्ट्रॉबेरी लगाया है। गंगेश ने 2019- 20 से इसकी शुरुआत की है। स्ट्रॉबेरी पहले वर्ष फलन में यह ज्यादा सफल नहीं हो सका लेकिन इस वर्ष यह सफल साबित होता नजर आ रहा है। खगेश ने बताया कि इस वर्ष 5 क्विंटल से ज्यादा स्ट्रॉबेरी का फ़लन होगा।

उल्लेखनीय है कि बाजार में स्ट्रॉबेरी 500 रुपये किलो के हिसाब से बिकती है। खगेश 2018 तक परंपरागत तरीके से ही खेती कर रहे थे। 2018 के बाद उसने स्ट्रॉबेरी की खेती करने की ठानी। इस काम में बिहार कृषि विश्वविद्यालय सबौर की ओर से उन्हें काफी मदद मिली है। खगेश ने बताया कि इसकी खेती की शुरुआत सितंबर महीने के अंतिम सप्ताह से अक्टूबर महीने तक होती है। 45 दिन में इसका फलन होता है और 55 से 60 दिनों के अंदर यह लाल होने लगता है। खगेश इसे ऑनलाइन माध्यम से भी बेच रहे हैं। इस बार फलन अच्छे होने से वह खुश तो हैं लेकिन सरकार की तरफ से मदद नहीं मिलने से उदास भी है। वो सरकार से मांग करते हैं कि अनुदानित दर पर बिहार सरकार इसका पौधा उपलब्ध करा दें तो वृहत पैमाने पर इसकी खेती करेंगे।

जिला कृषि पदाधिकारी कृष्णकांत झा ने बताया कि स्ट्रॉबेरी की खेती में कम से कम प्रति एकड़ 4 लाख रुपये तक का फायदा है। मौसम साथ रहा तो 8 लाख तक का मुनाफ़ा हो सकता है। उन्होंने कहा कि खगेश मंडल नए-नए प्रयोग करते रहते हैं। यह जिले के लिए आदर्श हैं। इनकी मांग है जो हम लोग राज्य सरकार तक पहुंचाएंगे की इन्हें प्लांटिंग मेटेरियल अनुदानित दर पर हम लोग उपलब्ध कराएं तो खेती और भी बड़े स्तर से होगी। आशा है राज्य सरकार इस पर निर्णय लेगी।