15 से 18 वर्ष के किशोर और किशोरियों को सीवान में सिर्फ को-वैक्सीन का टीका दिया जाएगा

  • Post By Admin on Dec 30 2021
15 से 18 वर्ष के किशोर और किशोरियों को सीवान में सिर्फ को-वैक्सीन का टीका दिया जाएगा

सीवान:  वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर सीवान में कोविड टीकाकरण अभियान जारी है। अब जिले में 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग के किशोर एवं किशोरियों का टीकाकरण 3 जनवरी से शुरू किया जाएगा। इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत तथा शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने संयुक्त रूप से पत्र जारी कर जिलाधिकारी और सिविल सर्जन को आवश्यक दिशा निर्देश दिया है। जारी पत्र के माध्यम से कहा गया है कि कोविड-19 का टीकाकरण महामारी से बचाव का एक सशक्त माध्यम है। कोविड-19 के नए वैरिएंट के मामले सामने आने के बाद विशेषज्ञों की समिति के द्वारा अनुशंसा के आधार पर 15 वर्ष से 18 वर्ष आयु वर्ग के किशोर एवं किशोरियों का टीकाकरण किया जाना है।

विद्यालय स्तर पर होगा टीकाकरण सत्र का आयोजन:

इस संबंध में जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ प्रमोद कुमार पाण्डेय ने बताया कि प्राथमिकता के आधार पर उच्च एवं इंटरमीडिएट विद्यालय स्तर पर टीकाकरण सत्र का आयोजन किया जाएगा। टीकाकरण सत्र के दिन समुचित उपस्थिति सुनिश्चित किए जाने को लेकर संबंधित विद्यालय स्तर पर सत्र आयोजन से पूर्व शिक्षक एवं अभिभावक की बैठक की जाएगी। विद्यालय में आयोजित किए जाने वाले टीकाकरण सत्र पर आवश्यकता अनुसार टीका कर्मी और फ्री फायर की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी।

किशोर किशोरियों को दिया जाएगा को-वैक्सीन का डोज:

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी के कार्यालय से प्राप्त जानकारी अनुसार 15 से 18 वर्ष के किशोर एवं किशोरियों को केवल कोवैक्सीन टीका की दो खुराक 28 दिन के अंतराल पर दी जाएगी। किशोर किशोरियों के टीकाकरण के लिए 1 जनवरी से कोविन पोर्टल पर उपलब्ध लाभार्थियों द्वारा ऑनलाइन पंजीकरण की सुविधा के साथ-साथ 3 जनवरी से प्रारंभ होने वाले टीकाकरण के लिए निर्धारित सत्रों पर टीकाकरण से अच्छादित किया जाएगा।

उल्लेखनीय हो कि जिले के किशोर किशोरियों को क्रमबद्ध तरीका से टीकाकरण कराने को लेकर सत्र स्थल पर समुचित मानव बल तैनात किया जाएगा। टीकाकरण के दिन कोविड विषय पर चित्रकला, रंगोली आदि गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा। शीतकालीन अवकाश तथा कोरोना संक्रमण की स्थिति को नियंत्रित करने को लेकर स्कूल बंद रहने की स्थिति में संबंधित स्कूल के प्रांगण को टीकाकरण सत्र स्थल के रूप में उपयोग किया जा सकता है। 3 जनवरी को जिले के प्रत्येक प्रखंडों में किसी एक विद्यालय में वृहद स्तर पर कार्यक्रम का शुभारंभ किया जाएगा।