सरदार उधम सिंह बलिदान दिवस पर वृक्षारोपण

  • Post By Admin on Jul 31 2021
सरदार उधम सिंह बलिदान दिवस पर वृक्षारोपण

लखीसराय : नगर परिषद क्षेत्र के नया टोला वार्ड-12 में अवस्थित महिला विद्या मंदिर मध्य विद्यालय में पर्यावरण भारती द्वारा सरदार उधम सिंह के बलिदान दिवस पर छायादार एवं औषधीय पौधे नीम, अर्जुन, ग्रीन सेमल के 21 पेड़ लगाए गए। वृक्षारोपण का नेतृत्व पर्यावरण भारती के कार्यकर्ता प्रेम प्रकाश कुशवाहा ने किया।

वृक्षारोपण के शुभ अवसर पर पर्यावरण भारती के प्रांत संरक्षक राम बिलास शांडिल्य ने कहा कि सरदार उधम सिंह का आज बलिदान दिवस है। उनका मूल नाम सरदार शेर सिंह था। बचपन में ही उनके माता-पिता का देहांत हो गया था। इनकी पढ़ाई अनाथालय में हुई थी। सरदार उधम सिंह का जन्म 26 दिसंबर 1899 को हुआ था। फांसी 31 जुलाई 1940 को लंदन में दिया गया था। उनके कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए श्री शांडिल्य ने कहा कि 13 अप्रैल 1919 को पंजाब राज्य के जलियांवाला बाग में रोलेट एक्ट के विरोध में निर्दाेष भारतीय सभा कर रहे थे। पंजाब के गवर्नर माइकल को जनरल डायर ने अंग्रेजी सेना को गोली चलाने का आदेश दिए। हजारों निर्दाेष भारतीय मारे गए। सरदार उधम सिंह उस समय कम उम्र के थे। बदला लेने की भावना से वे गदर पार्टी में शामिल हो गए। अंग्रेजों द्वारा 5 वर्षों तक जेल में बंद कर दिए गए। जेल से बाहर निकलने के बाद सरदार भगत सिंह ने शेर सिंह नाम बदलने का सलाह दिए और सरदार उधम सिंह के नाम से लंदन जाने हेतु पासपोर्ट बनाए। जनरल डायर को 13 मार्च 1940 ईस्वी में गोली से मौत के घाट उतार दिया। परिणाम स्वरूप लंदन में ही 31 जुलाई 1940 को फांसी के फंदे पर देश के लिए शहीद हो गए। शहीद उधम सिंह ने कहा था मैं देश के लिए जान दे रहा हूं। अतः कहा गया है देश के लिए बलिदान होना गौरव की बात है। ऐसे महापुरुषों के बलिदान दिवस पर पर्यावरण संरक्षण हेतु वृक्षारोपण करना हम भारतीयों का पुनीत कर्तव्य है।

वृक्षारोपण कार्यक्रम में प्रधानाचार्या धर्मशीला देवी, शिक्षिका सुप्रिया कुमारी, शिक्षक संजय कुमार सिंह, वीणा देवी, आशीष रंजन सिन्हा, महावीर पासवान, रवि कुमार, प्रेम प्रकाश कुशवाहा, शुभम राज आनंद, अनमोल रंजन, आदित्य रंजन, मुस्कान कुमारी, लक्ष्मी कुमारी, खुशी कुमारी, रघुवीर, सपना कुमारी आदि ने भाग लिए।