जनपद के तीन थानों की पुलिस ने गिरफ्तार किए 12 चोर

  • Post By Admin on Aug 01 2020
जनपद के तीन थानों की पुलिस ने गिरफ्तार किए 12 चोर

हापुड़: जनपद के तीन थानों की पुलिस ने अलग-अलग घटनाओं में पांच चोर और सात वाहन चोरों को गिरफ्तार किया। पकड़े गए बदमाशों से दो बाइक, चार कार, तमंचे और चोरी किया गया रुपया और सामान बरामद किया गया है।

पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन ने शनिवार को बताया कि थाना बाबूगढ़ पुलिस और स्वाट टीम शुुक्रवार को देर रात किठौर मार्ग पर गश्त के दौरान वाहनों की जांच कर रही थी। इस तीन युवक दो बाइकों पर सवार होकर आते दिखाई दिए। उन्हें रोका गया तो वह भागने लगे। पुलिस ने पीछा कर थोड़ी दूर बाद ही उन्हें धर दबोचा। बदमाशों से थाना देहात क्षेत्र और थाना किठौर से लूटी गई दो बाइकें, लूटे गए 79 हजार रुपये और तीन तमंचे बरामद किए गए। पूछताछ के दौरान बदमाशों ने अपने नाम जनपद मेरठ के गांव जसौरा निवासी जफरयाब, परवेज और सलमान उर्फ इसरार बताए हैं। 

उन्होंने बताया कि थाना हापुड़ देहात पुलिस ने भी शुक्रवार रात को दो चोरों को गिरफ्तार किया। इन दोनों चोरों ने 28 जुलाई की रात्रि में चन्द्रलोक काॅलोनी निवासी नितिन अरोड़ा की नवीन मन्डी स्थित दुकान का ताला तोड़ कर एक इन्वर्टर, बैट्री, एलईडी और 18000 हजार रुपये चोरी किए थे। पुलिस द्वारा पूछताछ किए जाने पर बदमाशों ने अपने नाम थाना हापुड़ देहात क्षेत्र के अंबेडकर नगर निवासी सौरभ और मौसम बताए। बदमाशों ने अपना अपराध स्वीकार किया है।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि गढ़मुक्तेश्वर पुलिस ने भी शुक्रवार रात में सात वाहन चोरों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मेरठ रोड पर नहर के निकट वाहनों की जांच के दौरान कार सवार एक वाहन चोर को गिरफ्तार किया। पूछताछ में उसने अपना नाम पश्चिम बंगाल निवासी समीरन चन्द्रदेव बताया। उसने बताया कि उसके गिरोह के अन्य साथी मेरठ रोड स्थित हरियाणा गोहाना ढाबे पर खड़े हैं। पुलिस ने वहां से तीन कारों में सवार छह अन्य बदमाशों जनपद मेरठ के मवाना निवासी शमीम, मनोज एवं अरविन्द, कस्बा किठौर निवासी आशिम और खिलाफत, जनपद हापुड़ के गांव रसूलपुर निवासी मनीष को गिरफ्तार कर लिया। बदमाशों ने पूछताछ में बताया कि वे मेरठ, हापुड़ और गाजियाबाद आदि जनपदों से कार चोरी कर उनकी नंबर प्लेट बदल कर पश्चिम बंगाल में ले जाकर बेच देते थे। पुलिस ने पकड़े गए सभी बदमाशों को न्यायालय में प्रस्तुत कियात्र जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।