प्रसव के दौरान जच्चा की मौत के बाद परिजनों ने जमकर काटा बवाल

  • Post By Admin on Jul 31 2021
प्रसव के दौरान जच्चा की मौत के बाद परिजनों ने जमकर काटा बवाल

लखीसराय : शनिवार की सुबह जिले के कबैया ओपी थाना से महज कुछ दूरी पर अवस्थित एक निजी क्लिीनिक में ऑपरेशन कर हुए प्रसव के बाद जच्चा की हुई मौत से आक्रोशित परिजनों ने शव को सड़क पर रखकर जाम कर दिया। मृतका केंद्रीय सरकार की रक्षा मंत्रालय अधीन आयुध कारखाने में कार्यरत थीं। घटना के बाद अस्पताल में घुसकर आक्रोशित परिजनों व लोगों ने ना सिर्फ तोड़-फोड़ की बल्कि चिकित्सक के साथ मारपीट भी की। अस्पताल में कार्यरत नर्स एवं अन्य स्टाफ भी भीड़ के गुस्से का शिकार होकर जख्मी हालत में सदर अस्पताल में भर्ती कराए गए हैं। इधर सड़क जाम कर रहे लोगों को समझा-बुझाकर मौके पर एसडीपीओ रंजन कुमार के नेतृत्व में पहुंची पुलिस टीम ने शांत कराया। इस बीच पुलिस को हल्का बल प्रयोग भी करना पड़ा।

घटना के संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार रामगढ़ चौक थाना क्षेत्र के इमामनगर सुरारी गांव निवासी संजय कुमार की 30 वर्षीय पत्नी सिलम कुमारी प्रसव पीड़ा के बाद कबैया थाना से महज सौ मीटर की दूरी पर स्थित साईं सेवा क्लिनिक में भर्ती करायी गईं थीं। मृतका के परिजन नीलम देवी और दीपक कुमार ने बताया कि ऑपरेशन के नाम पर पहले तो चिकित्सक द्वारा 80 हजार रुपए जमा करवा लिया गया। ऑपरेशन के बाद नवजात का जन्म हुआ और फिर थोड़ी देर बाद डॉक्टर अपने कमरे में चले गए। रात करीब तीन बजे स्थिति बिगड़ती देख जब दोबारा डॉक्टर को बुलाने गए तो तीन बार टाल-मटोल कर गए और यह कहकर लौटा दिया कि जाओ कुछ नहीं होगा। बाद में जब परिजनों ने दबाव बनाया तो डॉक्टर आए और स्थिति खराब होने की बात कहकर कहीं और ले जाने की बात कहने लगे। जिसके कुछ ही देर बाद सीलम की मौत हो गई। इस पर परिजन आक्रोशित हो गए और डॉक्टर व अस्पताल कर्मियों के साथ मारपीट की। जिसके बाद निजी क्लीनिक के डॉक्टर को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनकी हालत चिंताजनक बनी हुई है। बेहोशी की हालत में ही उनका इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है। अलग-अलग हिस्सों में उन्हें गहरी चोटें आई है। उनके अलावा डॉ. प्रियंका को भी मामूली चोट आई है, उन्हें कबैया थाना में रखा गया है।