लोक संवाद में याद की गई लोक नायिका सरला श्रीवास

  • Post By Admin on Jul 29 2022
लोक संवाद में याद की गई लोक नायिका सरला श्रीवास

मुजफ्फरपुर : शुक्रवार को मालीघाट में सरला श्रीवास सामाजिक सांस्कृतिक शोध संस्थान द्वारा लोक संवाद का आयोजन लोक गायिका अनिता कुमारी के अध्यक्षता में किया गया। अध्यक्षीय संबोधन में लोक गायिका अनीता कुमारी ने बताया कि स्त्री रत्न से सम्मानित लोक नायिका सरला श्रीवास ने संवादहीनता को समाप्त करने के लिए देश भर का भ्रमण कर समस्याओं को जाना व सूचना क्रांति की मदद से ग्रामीण अंचलों की समस्याओं को समाप्त करने के लिए संबंधित अधिकारियों से बात कर समस्या का समाधान कराया।

सरला श्रीवास सामाजिक सांस्कृतिक शोध संस्था के संयोजक लोक कलाकार सुनील कुमार ने "ए ही माटी के सरला श्रीवास, स्त्री रत्न के मिलल सेहरा अंगूठी के नगीना।" हमार देशवा अंगूठी के नगीना गीत के माध्यम से स्त्री रत्न सरला श्रीवास के जीवन पर प्रकाश डालते हुए बताया कि युवा अवस्था में ही देश सेवा कर राष्टीय स्तर पर पहचान बनाने वाली सरला श्रीवास ने अपने जीवन में कला को सहारा बनाया और देश भर में घूम-घूम कर गीत, संगीत, नाटक, नृत्य व कठपुतली कला के माध्यम से देश समाज में जागरूकता लाने का प्रयास किया। राष्ट्रीय स्तर की कलाकार समाजसेवी सरला श्रीवास के नाम से कला विश्वविद्यालय की स्थापना कर देश समाज के लिए जीवन समर्पित करने वाली महान महिला समाजसेवी, कलाकार सरला श्रीवास की सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

लोक संवाद में  इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय से प्रथम बैच परफॉर्मिंग आर्ट की पढ़ाई कर रहे एवं स्त्री रत्न सरला श्रीवास सम्मान से सम्मानित चंदन कुमार ने बताया
कि मुजफ्फरपुर में परफॉर्मिंग आर्ट की पढ़ाई नहीं होने के कारण छात्रों को बहुत परेशानियों का सामना करना होता है। आर्थिक कठिनाइयों के कारण बहुत सारे छात्र परफॉर्मिंग आर्ट की पढ़ाई करने के लिए दिल्ली, मुंबई, कोलकाता नहीं जा सकते। ऐसी स्थिति में इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय परफॉर्मिंग आर्ट  की डिग्री बेहतर विकल्प है। राष्ट्रीय स्तर की कलाकार समाजसेवी सरला श्रीवास के नाम से मुजफ्फरपुर में कला विश्वविद्यालय की स्थापना कर परफॉर्मिंग आर्ट की डिग्री के लिए छात्रों का पलायन रोका जा सकता हैं एवं गरीब परिवार के बच्चे भी परफॉर्मिंग आर्ट की शिक्षा ग्रहण कर अपने कैरियर को संवार सकते हैं।

कार्यक्रम के दौरान चंदन कुमार को लोक नायिका स्त्री रत्न सरला श्रीवास सम्मान से स्मृति चिन्ह अंगवस्त्र व पुस्तक भेंट कर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के उपरांत धन्यवाद ज्ञापन सरला श्रीवास सोशल कल्चरल रिसर्च फॉन्डेशन के अध्यक्ष युवा समाजेवी धीरज कुमार ने दिया।

इस अवसर पर मुख्य रूप से कांता देवी, अनिल कुमार ठाकुर, अजय कुमार, सुमन कुमारी, डॉ. एस.एस. बिहारी, डॉ. बसीर सिद्दीकी, लोक कलाकार संजय यादव, पवन कुमार, प्रमिला देवी, खुशबू कुमारी, भोला साह, कमलेश कुमार, शिव कुमार, कन्हैया, दुर्गा, शिवम कुमार उपस्थित थे।