गठबंधन के कार्यकर्ता ईवीएम स्ट्रांग रूम पहुंचे, पुलिस ने लाठीचार्ज कर खदेड़ा

  • Post By Admin on May 21 2019
गठबंधन के कार्यकर्ता ईवीएम स्ट्रांग रूम पहुंचे, पुलिस ने लाठीचार्ज कर खदेड़ा

 

मऊ : ईवीएम में गड़बड़ी होने की आशंका को लेकर लोकसभा सीट मऊ से सपा-बसपा गठबंधन के उम्मीदवार अतुल राय अपने समर्थकों और दोनों पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ सोमवार की देर रात्रि स्ट्रांग रूम पहुंचे और कुर्सियां लगाकर बाहर ही बैठ गए। जब इस बात की जानकारी जिला प्रशासन को हुई तो भारी पुलिस बल के साथ जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक पहुंचे और वहां मौजूद सपा-बसपा के नेताओं को लाठियां भांजकर खदेड़ा। सपा के पूर्व विधायक की गाड़ी सहित कई बाइकों को पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया। ईवीएम को लेकर बवाल मचा रहे लोगों की तलाश में पुलिस जगह-जगह छापेमारी कर रही है। मौके पर पुलिस अधीक्षक और जिला अधिकारी भारी मात्रा में फोर्स के साथ डटे हैं। बसपा के जिलाध्यक्ष ने ईवीएम की सुरक्षा पर सवाल उठाते हुए पुलिस प्रशासन पर लठीचार्ज करने का आरोप लगाते हुए ईवीएम की सुरक्षा की मांग की है।

पड़ोसी जनपद गाजीपुर और चंदौली में ईवीएम में गड़बड़ी और उसकी सुरक्षा की मांग को लेकर सोशल मीडिया पर आई खबरों को संज्ञान में लेते हुए शहर कोतवाली के सब्जी मंडी परिसर में बने स्ट्रांग रूम के बाहर गठबंधन के नेता औऱ समर्थक बड़ी संख्या में पहुंच गए। हालांकि जिलाधिकारी ने बसपा उम्मीदवार के दो लोगों को स्ट्रांग रूम के बाहर देखभाल के लिए अनुमति दी थी। इसके बावजूद गठबंधन की दोनों ही पार्टियों के नेता अपने समर्थकों के साथ बिना जिला प्रशासन को सूचित किये वहां पहुंच गए। मौके पर भारी पुलिस बल के साथ पहुंचे जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने बाहर बैठे नेताओं पर बल प्रयोग करते हुए लाठियां भांजकर उनको खदेड़ा।

इस पूरे मामले पर बसपा के जिलाध्यक्ष राजीव कुमार ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी यहां पर ईवीएम बदलकर हर सीट जीतना चाहती है। हम लोगों को चंदौली जनपद में कुछ ईवीएम बरामद होने की सूचना मिलने के साथ ही यह भी पता लगा कि मऊ जनपद में भी ईवीएम बदले जाने की सुगबुगाहट चल रही है तो गठबंधन के उम्मीदवार अतुल राय अपने समर्थकों और दोनों पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ स्ट्रांग रूम के बाहर पहुंच गए। सभी लोग वहां बैठे थे, तभी एसपी और जिलाधिकारी भारी पुलिस बल के साथ आये और बिना कुछ पूछे हुए गाली देते हुए लाठी मारना शुरू कर दिया। इसमें हमारे तमाम कार्यकर्ता घायल हुए हैं। प्रशासन का यह रूप हम लोगों ने पहली बार देखा है जबकि आज चुनाव नहीं हो रहा है। इसके पहले जब मतपेटियां थी, तब भी हम लोग उसकी सुरक्षा के लिए रहते थे। 

जिलाधिकारी ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी ने बताया कि गठबंधन उम्मीदवार ने स्ट्रांग रूम के बाहर अपना एजेंट तैनात करने की अनुमति मांगी थी लेकिन अनुमति नहीं दी गई। इसके बावजूद गठबंधन उम्मीदवार के समर्थकों की काफी भीड़ स्ट्रांग रूम के बाहर पहुंच रही है। जैसे ही यह सूचना मिली तो पुलिस बल के साथ हम लोग यहां पर आए और भीड़ को तितर-बितर कर दिया। यहां पर शांति व्यवस्था कायम है। कुछ लोग गाड़ियां यहां पर छोड़ कर भागे हैं। वह गाड़ियां जब्त की जाएंगी और उनके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। अभी शांति बनी हुई है लेकिन हम लोग निगाह रखे हुए हैं। 

मौके पर मौजूद पुलिस अधीक्षक ने बताया कि कुछ लोग सोशल मीडिया पर चंदौली और गाजीपुर में ईवीएम में हेरफेर की बात को लेकर यहां भी ईवीएम के स्ट्रांग रूम के बाहर इकट्ठा हो गए। इस सूचना पर मैं और जिलाधिकारी तत्काल मौके पर आए और उनको हल्का बल प्रयोग करके हटाया। वह लोग अपने-अपने घर को चले गए। इस समय शांति व्यवस्था कायम है, कहीं कोई बात नहीं है।