जिलाधिकारी के निर्देश के बाद भी गोदाम पर नहीं लगे सीसीटीवी कैमरे

  • Post By Admin on Oct 30 2021
जिलाधिकारी के निर्देश के बाद भी गोदाम पर नहीं लगे सीसीटीवी कैमरे

गोंडा:  योगी सरकार सार्वजनिक वितरण प्रणाली को पूरी तरह से भ्रष्टाचार मुक्त करने के उद्देश्य से लगातार तकनीक से सुसज्जित किया जा रहा है। फिर भी विभाग के जिम्मेदारों की लापरवाही के चलते खाद एवं रसद विभाग के गोदाम से रात के अंधेरे में खाद्यान्न की कालाबाजारी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद विभाग में हड़कंप मच गया है।

मनकापुर के सरकारी खाद्य एवं रसद विभाग के गोदाम से रात के अंधेरे में मोटरसाइकिल व साइकिल पर गोदाम से बोरिया लादकर लोगों को ले जाते देखा गया। जिसका किसी ने वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। जिससे विभाग के जिम्मेदारों की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लग रहे हैं।

इस संबंध में डिप्टी आरएमओ प्रज्ञा मिश्रा ने बताया कि वायरल वीडियो मुझे मिला था। उसे मैंने देखा है। उसमें एक बोरी मोटरसाइकिल पर तथा एक बोरी साइकिल पर दो लोग लिए जा रहे हैं। वास्तव में खाद्यान्न उतारते व लोड करते समय कभी-कभी कुछ बोरिया फट जाती हैं। वहां पर जो मजदूर काम करते हैं। झाड़ू लगाकर शाम को खाद्यान्न उठा ले जाते हैं। हमने उन्हें बुलाकर जानकारी की तथा आसपास के लोगों से भी पूछा सभी लोगों ने यही बताया कि वहां पर जो मजदूर काम करते हैं। वह शाम को झाड़ू लगाकर गिरे हुए खाद्यान्न को ले जाते हैं। हालांकि डिप्टी आरएमओ का यह दावा लोगों के गले से नहीं उतर रहा है क्योंकि वीडियो में तीन बोरी खाद्यान्न दिख रहा है।

जिलाधिकारी का आदेश हुआ बेअसर

जिलाधिकारी मार्कंडेय शाही द्वारा गोदाम पर कोटेदारों को कम खाद्यान्न दिए जाने की शिकायत को संज्ञान में लेते हुए सभी खाद्यान्न गोदामों पर सीसीटीवी कैमरा लगवाने के निर्देश दिए थे। करीब एक पखवाड़े से अधिक का समय बीत जाने के बाद भी अभी तक गोदामों पर सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे। लोगों का कहना है कि गोदाम पर सीसीटीवी कैमरे लग जाने से भ्रष्टाचार पर काफी हद तक अंकुश पाया जा सकता है। शायद यही कारण है कि जिम्मेदार उसे नजरअंदाज कर रहे हैं।