बिहार में कोरोना से हुई मौत के बाद उनके संपर्क के 4 लोग निकले कोरोना पॉजिटिव

  • Post By Admin on Mar 27 2020
बिहार में कोरोना से हुई मौत के बाद उनके संपर्क के 4 लोग निकले कोरोना पॉजिटिव

बिहार में कोरोना से हुई पहली मौत ने 4 और लोगों को बनाया मरीज 

दो नये पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद बिहार में कोरोना के अब तक 9 केस

शरणम अस्पताल में इलाज कराने पहुंचा था कोरोना का मरीज

पटना। बिहार में शुक्रवार को 2 और मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर 9 हो गई है। इनमें पटना के 5, मुंगेर के 3 और सीवान का एक मरीज है। इसमें से एक पटना के शरणम अस्पताल का कर्मचारी है और दूसरा मरीज सीवान का है। दोनों का इलाज राजधानी पटना के एनएमसीएच (नालंदा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल) के आइसोलेशन वार्ड में चल रहा है। राजधानी पटना में लगभग 2 हजार लोगों को होम क्वारैंटाइन किया गया है।  

पटना के न्यू बाइपास रोड पर स्थित शरणम अस्पताल के 2 कर्मचारी कोरोना के मरीज हैं। एक कर्मचारी की पॉजिटिव रिपोर्ट गुरुवार को आई थी। बिहार में कोरोना से पहली मौत 21 मार्च को पटना एम्स (अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान) में हुई थी। एम्स से पहले वह शरणम अस्पताल में इलाज कराने पहुंचा था। उसके संपर्क में अस्पताल के डॉक्टर, स्टाफ, वार्ड बॉय समेत 12 लोग आए थे। इन सबका सैंपल आरएमआरआई, पटना भेजा गया था। प्रशासन ने शरणम अस्पताल को सील कर दिया है। वार्ड ब्वॉय के 4 परिजनों के अलावा डॉक्टर, कर्मचारी समेत कुल 27 लोगों को अस्पताल के अलग-अलग कमरे में रखा गया है।

मृत युवक सैफ अली की संक्रमण चेन ने 4 लोगों को कोरोना का मरीज बनाया

मोहम्मद सैफ अली (38) मुंगेर जिले का रहने वाला था। वह कतर से आया था। डायबिटीज का मरीज था। उसकी किडनी भी खराब थी। एम्स में उसे आइसोलेशन वार्ड में रखा गया था। मौत के बाद उसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बावजूद एम्स प्रबंधन ने उसका शव परिजनों को सौंप दिया और वे मुंगेर भी पहुंच गये। सैफ की संक्रमण चेन ने 4 लोगों को कोरोना का मरीज बना दिया। उसके परिवार और पड़ोस के 2 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले थे।

केस पॉजिटिव मिलने के बाद सीवान पुलिस ने पूरे गांव को किया आइसोलेट   

शुक्रवार को सीवान जिले में पहला कोरोना पॉजिटिव केस मिला। मरीज नौतन थाना क्षेत्र के अंगौता गांव का रहने वाला है। हाल ही में वह दुबई से लौटा था। इसके बाद पुलिस ने पूरे गांव को आइसोलेट कर दिया है। स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव पहुंची। गांव के हर घर को सैनिटाइज किया।