बड़हिया की डॉक्टर बेटी कोविड मरीजों की कर रही निःशुल्क सेवा

  • Post By Admin on Jun 09 2021
बड़हिया की डॉक्टर बेटी कोविड मरीजों की कर रही निःशुल्क सेवा

लखीसराय : कोरोना महामारी के इस भयावह दौर में जहाँ चिकित्सकों की बड़ी कमी है, वहीं इस आपदा के समय में बड़हिया की एक बेटी ने अनुकरणीय मिशाल पेश किया है। बड़हिया के इन्द टोला निवासी अनंत कुमार सिंह उर्फ थेथे बाबू की पुत्री डॉ. पूजा कुमारी एमबीबीएस और एमडी करने के बाद दिल्ली (गुड़गांव) के प्रतिष्ठित हॉस्पिटल मेदान्ता में चिकित्सक के तौर पर अपनी सेवा दे रहीं है। वहीं दूसरी ओर दिल्ली के अपने निजी क्लिीनिक में इस महामारी में वह अपनी जान जोखिम में डालकर कोविड मरीजों को निःशुल्क सेवाएं देने का निर्णय लेकर निःस्वार्थ भावना से उनका इलाज कर रहीं है। ऐसा कर उन्होंने दूसरे अन्य निजी क्लिीनिक संचालक चिकित्सक के लिए एक मिशाल कायम की है। 

डॉ. पूजा ने बड़हिया और पटना में अपनी प्रारंभिक पढ़ाई के बाद दिल्ली के (जेएनएमसी) जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस किया तथा पीएमसीएच पटना से एमडी कर वे आज चिकित्सक के तौर पर कार्यरत है। डॉ. पूजा मुख्य रूप से शिशु रोग विशेषज्ञ तथा हार्ट स्पेशलिस्ट है।

बड़हिया वार्ड नंबर 12, इन्द टोला निवासी डॉ. पूजा के पिता अनन्त कुमार सिंह उर्फ थेथे बाबू ने कहा कि समय बदल रहा है, महिलाएं पुरुषों से एक कदम आगे है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के चलते बेटी पूजा ने स्वेच्छा से अपने निजी क्लिीनिक में कोविड के मरीजों को निःशुल्क सेवाएं देने का निर्णय लिया है। यह कहते हुए वे काफी खुश है कि अगर मौका मिले तो बेटियाँ बेटों से तनिक भी कम नहीं है।

डॉ. पूजा के इस प्रेरणादायी कार्य की ग्रामीणों ने सराहना करते हुए इस साहसिक कदम को अनुकरणीय बताया। प्रख्यात साहित्यकार रत्नेश्वर कुमार सिंह और डॉ. सत्येंद्र अरुण ने शुभकामनाएं देते हुए कहा कि वे अपने पवित्र लक्ष्य के ध्येय को पूर्ण करें। साथ ही लोगों ने कहा कि गाँव की बेटी के इस मानवीय पहल पर हमें गर्व है, मानव सेवा ही ईश्वर की सेवा है। ग्रामीणों में कृष्णमोहन सिंह, सुजीत कुमार, अमरेश कुमार अनीश, विशाल कुमार छोटू, कृष्ण मोहन कुमार छोटे, सौरव कुमार, निरंजन पाठक, काजू कुमार, सेवानिवृत दारोगा उदय शंकर सिंह, अजय सिंह, जदयू नेता, सुजीत कुमार, वरिष्ठ पत्रकार सुनील कुमार ने डॉ. पूजा को बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी।