बिहार के STET अभ्यर्थियों के लिए सरकार की नियत में खोट

  • Post By Admin on May 16 2020
बिहार के STET अभ्यर्थियों के लिए सरकार की नियत में खोट

पटना : बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने एसटीईटी अभ्यर्थियों के साथ नाइंसाफी करते हुए परीक्षा को रद्द कर दिया है । परीक्षा को रद्द करने के पीछे की वजह अभ्यर्थियों के द्वारा किए हंगामे को बताया गया है । बोर्ड ने अभ्यर्थियों पर आरोप लगाते हुए कहा कि " परीक्षार्थियों द्वारा परीक्षा केन्द्रों पर तोड़-फोड़, हंगामा, प्रश्न पत्र फाड़ना तथा मार-पीट जैसी घटनायें हुई हैं। ऐसे परीक्षार्थी जिन्होंने प्रश्न पत्र को फाड़ा तथा परीक्षा का बहिष्कार किया उनके द्वारा प्रश्न पत्र को मोबाईल के माध्यम से जहां-तहां भेजने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता"

बिहार बोर्ड द्वारा गठित चार सदस्यीय जांच समिति द्वारा दिनांक 28.01.2020 को राज्य के कुल 317 परीक्षा केन्द्रों पर दो पालियों में आयोजित परीक्षा 2019 को निरस्त करने की अनुशंसा की गई है। जांच समिति द्वारा की गई अनुशंसा के आलोक में बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा आज एसटीईटी, 2019 के दोनों पालियों में आयोजित परीक्षा को रद्द करने का निर्णय लिया गया है। साथ ही, इस आलोक में एसटीईटी, 2019 की परीक्षा को पुनः आयोजित करने के लिए शिक्षा विभाग को अनुशंसा किया गया है । 
वहीं सरकार के द्वारा इस निर्णय के आने के बाद काफी हताशा देखने को मिला है । कुछ अभ्यर्थियों ने कहा कि सरकार की नियत टीईटी अभ्यर्थियों के प्रति हमेशा से गलत ही है जिसका खामियाजा हम सभी को भुगतना पड़ता है आज जहां परीक्षा परिणाम के बाद हमारी जिंदगी एक कदम रोजगार के क्षेत्र में आगे बढ़ने की ओर थी सरकार ने अपनी नियत में खोट लाकर कईयों की जिंदगियां बर्बाद कर दी ।