मुंगेर हिंसा पर कांग्रेस हमलावर, नीतीश सरकार से मांगा जवाब

  • Post By Admin on Oct 28 2020
मुंगेर हिंसा पर कांग्रेस हमलावर, नीतीश सरकार से मांगा जवाब

नई दिल्ली : बिहार के मुंगेर में दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के समय हुई हिंसक झड़प में एक युवक की मौत और 25 से अधिक लोगों के घायल होने को लेकर कांग्रेस पार्टी ने भाजपा-जदयू गठबंधन वाली बिहार सरकार पर हमला बोला है। कांग्रेस ने सवाल किया है कि क्या बिहार में पूजा करना क्या अपराध है। मंगेर की घटना पर सरकार को जवाब देना होगा कि आखिर ऐसी क्या वजह थी कि माता के भक्तों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा गया और गोली चलाई गई।
कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के लिए पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार के इतिहास में अभी तक ऐसा कुछ नहीं हुआ था कि माता के भक्तों को विसर्जन कार्यक्रम को लेकर पीटा गया हो। लेकिन सुशासन बाबू के राज में अब सब संभव है। यही नहीं कांग्रेस नेता ने मुंगेर में पुलिसिया बर्बरता की तुलना स्वतंत्रता संग्राम के समय हुए जालियांवाले बाग की घटना से की। उन्होंने कहा कि मुंगेर में हुई हिंसा का जवाब सरकार को देना होगा।मुंगेर हिंसा को लेकर अभिषेक मनु सिंघवी ने बिहार के मुख्यमंत्री पर भी तंज कसा। उन्होंने कहा कि भले ही नीतीश कुमार खुद को ‘सुशासन बाबू’ की पदवी दे दें लेकिन हकीकत में वो ‘निर्दयी कुमार’ हैं। जिस प्रकार से मां दुर्गा के भक्तों के साथ बर्बरता हुई, उस लिहाज से बिहार में नीतीश कुमार-सुशील मोदी का नहीं ‘निर्दयी कुमार’ और ‘निर्मम मोदी’ का शासन है। उन्होंने कहा कि हजार संवेदनाओं की मौत के बाद ऐसी निर्लज और निष्ठुर सरकार जन्म लेती है, जिसे अब अलविदा कहने का समय आ गया है।उल्लेखनीय है कि बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान के एक दिन पहले मुंगेर जिले में देवी दुर्गा की मूर्ति विसर्जन के दौरान गोलीबारी और पथराव होने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। जबकि सुरक्षाकर्मियों सहित 25 से अधिक लोग घायल हो गए। दरअसल पूजा आयोजक पूजा के धर्मों के अनुसार विसर्जन करना चाहती थी लेकिन पुलिस जबरन मूर्ति को विसर्जन कराने में लगी थी। इसी बात को लेकर पुलिस और लोगों के बीच कहासुनी हुई जो बाद में झड़प में बदल गई। इसके बाद पुलिस ने बर्बरतापूर्वक सबकी पिटाई की। इस दौरान पुलिस की गोली से एक युवक की मौत भी हो गई। इसी मामले को लेकर विपक्षी दल राज्य सरकार पर हमलावर हैं।